श्री एमएसआर प्रसाद
श्री एमएसआर प्रसाद
डीएस एवं महानिदेशक - मिसाइल एवं सामरिक प्रणाली (एमएसएस)

प्रख्यात वैज्ञानिक, श्री एमएसआर प्रसाद को 01 अक्तूबर, 2018 से प्रभावी होते हुए मिसाइल व सामरिक प्रणालियों का महानिदेशक नियुक्त किया गया है।

उनका जन्म 1961 में हुआ, और 1984 में उन्होंने मद्रास इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी से अपनी बी.टेक की डिग्री और आईआईटी, बॉम्बे से एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में एम. टेक की डिग्री हासिल की।

पिछले पैंतीस वर्षों से, श्री एमएसआर प्रसाद ने डीआरडीओ के रक्षा कार्यक्रमों के लिए मिसाइल प्रौद्योगिकियों में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। विभिन्न मिसाइल परियोजनाओं के लिए एयरोस्पेस स्ट्रक्चरल डिज़ाइन, एनालिसिस और स्ट्रक्चरल डायनामिक्स अध्ययनों के क्षेत्र में उनका योगदान उल्लेखनीय है। पनडुब्बी से छोड़ी जाने वाली मिसाइल कार्यक्रम के वरिष्ठ डिजाइनरों में से एक होने के नाते, उन्होंने अनगिनत नई डिज़ाइन अवधारणाएं प्रदान की हैं और देश की पहली पनडुब्बी से छोड़ी जाने वाली बैलिस्टिक मिसाइल बी05 के डिज़ाइन, विकास और उत्पादन में सफल योगदान दिया है।

वे इस कार्यक्रम के लिए बहुत भरोसेमंद एयरोस्पेस प्रणालियों के विकास के लिए भी जिम्मेदार रहे हैं। इन गतिविधियों के चलते श्री एमएसआर प्रसाद ने एडवांस्ड नेवल सिस्टम्स कार्यक्रम के कार्यक्रम निदेशक और डिफेन्स रिसर्च एंड डेवलपमेंट लेबोरेटरी के निदेशक के रूप में पदभार संभालते हुए मिसाइल कॉम्प्लेक्स में अपने करियर को तरक्की प्रदान की है।

उन्होंने अनेक परियोजनाओं का विकास चरण से उत्पादन तक सफलतापूर्वक संचालन किया है और मिसाइलों के कुशल और उच्च गुणवत्ता वाले उत्पादन के लिए प्रभावी प्रबंधन प्रक्रियाओं का विकास किया है।

उनके सराहनीय और अभिनव योगदान को डीआरडीओ द्वारा मान्यता प्रदान है जिसका सबूत उन्हें प्राप्त विभिन्न पुरस्कार और सम्मान हैं जैसे कि लेबोरेटरी साइंटिस्ट ऑफ़ द ईयर पुरस्कार - 2003, डीआरडीओ उत्कृष्ट प्रदर्शन टीम पुरस्कार - 2007, 2011 में डीआरडीओ द्वारा साइंटिस्ट ऑफ़ द ईयर और सामरिक मिसाइल कार्यक्रम में डीआरडीओ बेस्ट इनोवेटिव टेक्नोलॉजी डेवलपमेंट पुरस्कार - 2014

Back to Top