रियर एडमिरल रंजीत सिंह
रियर एडमिरल रंजीत सिंह
निदेशक, उद्योग इंटरफेस और प्रौद्योगिकी प्रबंधन (डीआईआईटीएम), डीआरडीओ मुख्यालय, रक्षा मंत्रालय, नई दिल्ली

रियर एडमिरल रंजीत सिंह जी को उद्योग इंटरफेस और प्रौद्योगिकी प्रबंधन (डीआईआईटीएम) के निदेशक का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया गया हैं। 1986 में रियर एडमिरल रंजीत सिंह ने राष्ट्रीय रक्षा अकादमी, खडकवासला से स्नातक की उपाधि प्राप्त की। 01 जुलाई 1987 को उन्हें भारतीय नौसेना में नियुक्त किया गया था। उनकी शैक्षणिक योग्यता में पुणे विश्वविद्यालय से एमई (इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेलीकम्युनिकेशन), इंस्टीट्यूट ऑफ आर्मामेंट टेक्नोलॉजी (आईएटी), पुणे से उन्नत नौसेना हथियार प्रणाली इंजीनियरिंग कोर्स (एएनडब्ल्यूएसईसी) शामिल हैं, जिसके लिए उन्हें वीर कर्मा पुरस्कार और रोलिंग ट्रॉफी-नौसेना स्टाफ प्रमुख से सम्मानित किया गया

उनकी अब की नियुक्तियों में भारतीय नौसेना के विभिन्न फ्रंट लाइन जहाजों पर कार्यकाल शामिल है। डीएलआरएल में अपने कार्यकाल की अवधि में उन्होंने भारतीय नौसेना में ईडब्ल्यू प्रणाली की तीन पीढ़ियों को शामिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उन्हें भारतीय नौसेना के विभिन्न पोतों और पनडुब्बियों पर मजबूत और विश्वसनीय ईडब्ल्यू प्रणालियों के डिजाइन, विकास और अधिष्ठापन में व्यापक अनुभव है।

वर्तमान में, 07 मई 2019 से उन्होंने निदेशक, गुणवत्ता, विश्वसनीयता और सुरक्षित (डीक्यूआर एंड एस) के निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है।

Back to Top