संपर्क

कार्य क्षेत्र

आईटीएम का मुख्य अधिदेश डीआरडीओ के वैज्ञानिकों और अधिकारियों को तथा रक्षा मंत्रालय एवं सशस्त्र बलों के अन्य अधिकारियों को अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी प्रबंधन प्रशिक्षण प्रदान करना है।

आईटीएम पाठ्यक्रमों के लिए प्रतिभागियों को रक्षा के सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों से भी लाया जा रहा है। आईटीएम लगभग 30पाठ्यक्रमों, प्रत्येक प्रशिक्षण कैलेंडर वर्ष में लगभग 1000पेशेवरों के लिए कार्यशालाओं और अनुकूलित प्रशिक्षणों को नियोजित और आयोजित करता है। सशस्त्र बलों के लिए उन्नत कार्य अध्ययन (एडब्ल्यूएस) पर एक विशेष पाठ्यक्रम आयोजित किया जाता है।

प्रशिक्षण प्रणाली का उद्देश्य विकास परियोजनाओं के क्रियान्वयन में प्रतिभागियों की क्षमता और प्रभावशीलता को बढ़ाने के दृष्टिकोण के साथ प्रतिभागियों के तकनीकी प्रबंधकीय कौशल को बढ़ावा देना है। इसे प्रौद्योगिकी प्रबंधन, नए उत्पाद विकास के प्रबंधन, परियोजना प्रबंधन, अनुसंधान एवं विकास प्रबंधन, गुणवत्ता प्रबंधन, संचार कौशल आदि क्षेत्रों में पाठ्यक्रमों के संचालन के माध्यम से हासिल किया गया है।

प्रबंधन शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्टता का एक केन्द्र बनने के लिए आईटीएम हमारे ग्राहकों की प्रशिक्षण आवश्यकताओं को पूरा करने के उद्देश्य के साथ डीआरडीओ प्रयोगशालाओं के निदेशकों से प्राप्त सूचनाओं और प्रतिभागियों से प्राप्त विभिन्न प्रतिक्रियाओं के आधार पर लगातार अपने पाठ्यक्रम का नवीनीकरण और उन्नयन कर रहा है। पाठ्यक्रम सामग्री को डीआरडीओ बंधुता की प्रशिक्षण जरूरतों के साथ समन्वित किया गया है।

आईटीएम ने पिछले 50 वर्षों में उत्कृष्टता के लिए डीआरडीओ की दूरदृष्टि में अंतर्ग्रथित मूल अधिदेशश की प्रभावी प्रदायगी की दिशा में योगदान करके अपनी छाप छोड़ी है।

 
.
.
.
.
Top