संपर्क

 

 

 

 

 

 

पुरस्कार

टाइटेनियम ट्राफी

इनमास को डीआरडीओ द्वारा 2004 वर्ष के लिए सर्वोत्तम जीवन विज्ञान प्रयोगशाला के रुप में पुरस्कृत किया गया।

चीफ ऑफ नेवल अवार्ड, 2004

ब्रिगेडियर आरके मारवा, संयुक्त निदेशक, इनमास को "फेमिलियल एग्रेशन ऑफ आटोइम्यून थायराडिटीज इन फर्स्ट डिग्री रिलेटिव्स ऑफ पैसेन्टस विद जुवेनाइल ऑटोइम्यून थायराइड डिजीज" शीर्षक से वैज्ञानिक लेख के लिए।

चंद्रकांता डांडिया पुरस्कार, 2004

डॉ. राकेश कुमार शर्मा, वैज्ञानिक ’एफ’ - 2001-2003 की अवधि के दौरान फार्मेसी में उनके उल्लेखनीय शोध प्रकाशन के लिए।

प्रसिद्ध अनुसंधान प्रकाशन के लिए 2005 में इंडियन फार्माकोलोजिकल सोसाइटी

डॉ. राकेश कुमार शर्मा, वैज्ञानिक ’एफ’ और श्री अनिल बब्बर को "फार्मुलेशन ऑफ लियोफिलाइज कोल्ड किट फॉर इंस्टैंट प्रीपरेशन ऑफ 99 एमटीसी ग्लूकेरेट एंड इट्स साइन्टिग्राफिक इवैलुएशन इन एक्सपेरीमेंटल मोडल ऑफ इनफ्रैक्शन" शीर्षक वाले पत्र के लिए।

डॉ. एआर गोपाल अयंगर युवा वैज्ञानिक पुरस्कार 2005

डॉ. सुधीर चंदन, वैज्ञानिक ’ई’ को जीव कोशिका रेडियो प्रतिरोध और मानव ट्यूमर सेल लाइनों में उच्च रेडियोसंवेदनशीलता की कम मात्रा के क्षेत्रों में प्रकाशित वैज्ञानिक योगदान के लिए पुरस्कृत किया गया। यह पुरस्कार भारतीय विकिरण संरक्षण संघ द्वारा प्रदान किया गया।

डब्ल्यूएफएनएमबी पुरस्कार 2006

  • डा. रजनीश शर्मा वैज्ञानिक “एफ” को अस्थि यक्ष्मा की खोज में 99एमटीसी-सिप्रोफ्लोक्सासिन स्कैन की भूमिका पर वैज्ञानिक लेख के लिए विश्व नाभिकीय औषधि सम्मेलन 2006 में डब्ल्यूएफएनएमबी पुरस्कार 2006 हेतु चुना गया।

भारतीय अंत:स्राव समिति के 36वें वार्षिक सम्मेलन (एसिकॉन-2006) में डा. एमएमएस आहूजा स्मृति व्याख्यान

  • ब्रिगे. आरके मारवाह सह निदेशक, इनमास - बीएम बिरला विज्ञान और प्रौद्योगिकी केंद्र, जयपुर में 17 से 19 नवम्बर तक आयोजित भारतीय अंत:स्राव समिति के 36वें वार्षिक सम्मेलन (एसिकॉन-2006) में व्याख्यान के लिए।

सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रस्तुति, 2006

  • डा. संयोग जैन, वैज्ञानिक “बी” अलेग्जेंडर वोन हम्बोल्ट स्टिफटंग, जर्मनी द्वारा “बायो-नैनो-जिओ-विज्ञान: मानवजाति की चिंता के मुद्दों का संबोधन” के विषय में पालमपुर (हिमाचल प्रदेश) में प्रायोजित कोलेग

युवा वैज्ञानिक पुरस्कार, 2006

  • 20 से 22 नवम्बर, 2006 तक बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, वाराणसी में विकिरण जीवविज्ञान पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में अनुसंधान पत्र के लिए सुश्री दिव्या खेतान, एसटीए “बी” को युवा वैज्ञानिक पुरस्कार प्रदान किया गया।

नाभिकीय चिकित्सा समिति के 38वें वार्षिक सम्मेलन, 2006 में सर्वश्रेष्ठ विकिरणभेषज पत्र

  • डा. एके मिश्रा वैज्ञानिक “एफ” - जमशेदपुर में 13-16 दिसम्बर, 2006 तक आयोजित भारतीय नाभिकीय चिकित्सा समिति के 38वें वार्षिक सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ विकिरणभेषज पत्र के लिए प्रथम पुरस्कार

डीआरडीओ का सर्वश्रेष्ठ कार्यप्रदर्शन पुरस्कार, 2006

  • श्री विनोद अम्बरदार, टीओ “डी” को इनमास में उनके उत्कृष्ट कार्यप्रदर्शन के लिए

दिल्ली मनोविकार वार्षिक सम्मेलन, मसूरी, 2006

  • डा. सुभाष खुशु, वैज्ञानिक “एफ” - 8-10 दिसम्बर, 2006 तक “ऐल्कोहल का सेवन करने वाले व्यक्तियों में एक खोजपूर्ण एफएमआरआई अध्ययन --एक स्वस्थ व्यक्ति के मुकाबले उनके दृश्यस्थानिक समानता आकलन की तुलना” शीर्षक के पत्र हेतु प्रथम पुरस्कार

दिल्ली तंत्रिकाविज्ञान एसोसिएशन का 8वां वार्षिक सम्मेलन, 2006

  • डा. सुभाष खुशु, वैज्ञानिक “एफ” - फरवरी, 2006 में डा. आरएमएल अस्पताल, नई दिल्ली में  “प्रेरक कार्य क्षतियों के आकलन में एफएमआरआई की भूमिका” शीर्षक के पत्र हेतु प्रथम पुरस्कार

सर्वश्रेष्ठ पोस्टर पुरस्कार, 2007

  • श्री राजकुमार, वैज्ञानिक “सी” - इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी मद्रास, चेन्नई में 18-21 दिसम्बर, 2007 तक आयोजित भारतीय सूक्ष्मजीवविज्ञानी एसोसिएशन के 48वें वार्षिक सम्मेलन में पशुचिकित्सा, डेरी और सूक्ष्मजीवविज्ञान संवर्ग में सर्वश्रेष्ठ पोस्टर पुरस्कार

सर्वश्रेष्ठ पोस्टर प्रस्तुतीकरण पुरस्कार, 2007

  • 16-19 जनवरी,2008 तक दिल्ली में आयोजित 14वीं राष्ट्रीय चुंबकीय अनुनाद बैठक एवं “अग्रगत एमआर अनुप्रयोग” पर विचारगोष्ठी में “मानव मस्तिष्क के संरचनात्मक संगठन पर दृश्य अनुभव का प्रभाव: एक वोक्सल आधारित आकारमिति अध्ययन” शीर्षक के पोस्टर हेतु श्रीमती शिल्पी मोदी, वैज्ञानिक “सी” को सर्वश्रेष्ठ पोस्टर प्रस्तुतीकरण पुरस्कार हेतु चुना गया। डीआरडीई, ग्वालियर में 15-16 दिसम्बर, 2008 को आयोजित रोगों का आणविक तंत्र पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में “घातक विकिरण के विरूद्ध रोग रोधी नुसखों का विकास” शीर्षक के पोस्टर हेतु डा. अजस्व्रत दत्ता, वैज्ञानिक “सी” को सर्वश्रेष्ठ पोस्टर प्रस्तुतीकरण पुरस्कार हेतु चुना गया। सुश्री संध्या तिवारी का “चूहों के यकृत में जीन अभिव्यक्ति का परिवर्तनकारी प्रभाव” शीर्षक का पोस्टर जयपुर में 10-12 नवम्बर, 2008 को आयोजित भारतीय विकिरण जीवविज्ञान सोसाइटी के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में पुरस्कार हेतु चुना गया। डा. प्रदीप कुमार चुग, वैज्ञानिक “सी” को दिल्ली में 05-06 फरवरी, 2008 को आयोजित अखिल भारतीय वैज्ञानिक/तकनीकी राजभाषा संगोष्ठी में सर्वश्रेष्ठ प्रस्तुतीकरण पुरस्कार हेतु चुना गया।

वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2008

  • सुश्री मनीषा भट्टाचार्य, वैज्ञानिक “बी” को एफएमआरआई, वीबीएम तथा प्रोटोन एमआरएस के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान के लिए वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2008 प्रदान किया गया।

प्रौद्योगिकी दिवस व्याख्यान पुरस्कार 2008

  • डा. सुधीर चांदना, वैज्ञानिक “ई” को मूल कोशिका जीवविज्ञान तथा जैवचिकित्सा अनुसंधान में बहुलक अनुप्रयोगों सहित कोशिका आकारविज्ञान तथा विकृतिदैहिकी के सरलीकृत और शीघ्र विश्लेषण हेतु प्रदीप्ति सूक्ष्मदर्शीविज्ञान आधारित अगरोज युक्त परीक्षणों के विकास हेतु प्राप्त हुआ।

वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2009

  • डा. सुधीर चांदना, वैज्ञानिक “ई” को कीट कोशिका विकिरणरेाध तथा अल्प मात्रा अतिसंवेदनशीलता में अनुसंधान योगदान हेतु वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2009 प्राप्त हुआ।

डीआरडीओ स्वर्ण जयंती क्विज 2009

  • श्री राम सिंह, एसटीए “सी” को डीआरडीओ स्वर्ण जयंती क्विज 2009 में तृतीय पुरस्कार प्राप्त हुआ।

युवा अन्वेषक पुरस्कार 2009

  • डा. दिव्या खेतान को सैन-डिएगो, यूएसए में सितम्बर, 2009 के दौरान “चयापचय और कैंसर” पर आयोजित अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में भाग लेने के लिए अमेरिकी कैंसर अनुसंधान एसोसिएशन से युवा अन्वेषक पुरस्कार प्राप्त हुआ।

डीआरडीओ वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2009

  • डा. राजेन्द्र प्रशाद त्रिपाठी, वैज्ञानिक “एच” एवं निदेशक ने डीआरडीओ वर्ष का वैज्ञानिक पुरस्कार, 2009 प्राप्त किया।

सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रस्तुति, 2010

  • डा. पूजा पंवार, वैज्ञानिक “सी” ने चंडीगढ़ में 11-13 नवम्बर, 2010 तक भारतीय नाभिकीय चिकित्सा सोसाइटी (एसएनएमआई) के वार्षिक सम्मेलन में सर्वश्रेष्ठ मौखिक प्रस्तुति पुरस्कार प्राप्त किया।
.
.
.
.
Top