संपर्क
DRDO

नागरिक घोषणापत्र

  1. कीटशास्त्र-विषयक और वेक्टर जनित बीमारियों पर महामारी विज्ञान के पहलुओं का अध्ययन और उनके नियंत्रण के उपायों का विकास करना
  2. जल गुणवत्ता का परीक्षण और निगरानी करना
  3. जल प्रदूषकों की निगरानी और उनका निष्कासन करना
  4. खरपतवार और कीटों हेतु एकीकृत नियंत्रक उपाय करना
  5. वेक्टर जनित बीमारियों और अन्य बीमारियों हेतु उत्तरी-पूर्वी (एनई) भारत की जैव-विविधता का उपयोग करना
  6. माइक्रोबियल बायोडिग्रेडेशन, मानव एवं कृषि अपशिष्ट तथा उचित और किफायती प्रौद्योगिकी के विकास पर अध्ययन
  7. वेक्टर जनित रोगाणुओं हेतु आणविक पहचान प्रौद्योगिकी
  8. पादप ऊतक संवर्धन तथा फाइटोकैमिस्ट्री
  9. उच्च उन्नतांश सुरक्षात्मक कृषि पर अध्ययन
  10. मशरूम का उत्पादन और प्रशिक्षण की सुविधा
  11. अपशिष्ट को कम करने हेतु कार्बनिक ठोस अपशिष्ट से वानस्पतिक खाद बनाना (वर्मीकंपोसिटिंग सहित)
  12. मलेरिया के प्रबंधन हेतु आरएस और जीआईएस का अनुप्रयोग
  13. प्रयोगशाला और देश के किसी दूसरे स्थान पर उपलब्ध विशेषज्ञता का परामर्श, प्रशिक्षण और प्रसार
  14. निम्नलिखित अनुसंधान प्रतिष्ठानों और अकादमिक संस्थान के साथ डीआरएल के घनिष्ठ पारस्परिक विचार-विमर्श और सहयोग है:
    • एनइएचयू
    • असम विश्वविद्यालय
    • गुवाहाटी विश्वविद्याल
    • आआईटी गुवाहाटी
    • सेना / वायु सेना / नौसेना / अर्धसैनिक बल
    • स्थानीय प्रशासनिक निकाय इत्यादि
  15. सामयिक एमओयू निम्नलिखित विश्वविद्यालयों के साथ हैं:
    • डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय
    • गुवाहाटी विश्वविद्यालय
    • जिवाजी विश्वविद्यालय
.
.
.
.
Top