संपर्क
DRDO

प्रयोगशाला के विषय में

रक्षा अनुसंधान प्रयोगशाला (डीआरएल), तेजपुर ने, रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ), रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार, के संरक्षण के अधीन, 21 नवंबर, 1962 को तत्कालीन रक्षा अनुसंधान प्रयोगशाला (उपकरण), कानपुर के एक लघु अनुसंधान प्रकोष्ठ से "फ़ील्ड लेबोरेट्री" के रूप में अपनी विनम्र शुरुआत की थी। प्रयोगशाला का प्रारंभिक चार्टर उत्तरी-पूर्वी भारत के प्रचलित गर्म और आर्द्र जलवायु के अंतर्गत विकसित उत्पादों हेतु भंडारण / आउटडोर एक्सपोज़र परीक्षण प्रदान करना था। आगामी विकास पर, प्रयोगशाला ने इस सामरिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्र में तैनात सैनिकों के हितों के लिए स्वतंत्र अनुसंधान एवं विकास निर्दिष्टीकरण के साथ गति प्राप्त की।
अक्तूबर 1980 में, यह एक पूर्ण-विकसित आर एंड डी प्रयोगशाला बन गयी तथा इसे रक्षा अनुसंधान प्रयोगशाला के रूप में इसका वर्तमान नाम दिया गया। दुर्गम क्षेत्रों और प्रतिकूल जलवायु में सेवा करने वाले सैनिकों की अनिवार्यता और आवश्यकता की ओर निरंतर प्रयास करने में, प्रयोगशाला परिचालन क्षमता को बनाए रखने हेतु कुशलता की स्थिति में सुधार करने के लिए प्रौद्योगिकियों का विकास करते हुए, अनुसंधान एवं विकास कार्यक्रमों के लक्ष्यों का निर्धारण कर रही है।
वैज्ञानिक टीमें समय-समय पर अग्रेषित और अप्रवासी क्षेत्रों का दौरा करती हैं, ताकि सैनिकों के द्वारा सामना किए जाने वाले अवरोधों का 'ऑन द स्पॉट' आंकलन किया जा सके, और उचित राहत प्रौद्योगिकियों का विकास किया जा सके। आर एंड डी परिणामों के अनपेक्षित लाभों को सामाजिक-आर्थिक विकास हेतु नागरिक के लिए भी विस्तारित किया गया है। आर एंड डी दृष्टिकोण द्वारा उचित सुधारात्मक उपायों के विकास हेतु विभिन्न लड़ाकू परिचालन मुद्दों पर जानकारी को साझा करने के लिए सेवाओं सहित समय-समय पर आपसी विचार-विमर्श आयोजित किया जाता है।
वर्तमान में, इस प्रयोगशाला ने वेक्टर जनित बीमारी, पेय जल की गुणवत्ता में सुधार, अपशिष्ट जैव-वर्गीकरण एवं प्रबंधन, उच्च उन्नतांश बागवानी और पहाड़ी एवं सीमावर्ती क्षेत्रों हेतु सुरक्षात्मक खेती तथा रक्षा उपयोग हेतु उत्पादों के विकास पर अपने अनुसंधान और विकास अध्ययन का ध्यान केंद्रित किया है। राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के विभिन्न अनुसंधान प्रतिष्ठान और अकादमिक संस्थान केंद्रित उद्देश्यों को प्राप्त करने के लिए ज्ञान, विशेषज्ञता और प्रयोगशाला सुविधाओं को साझा करने हेतु घनिष्ट संपर्क में हैं।

.
.
.
.
Top