संपर्क

दृष्टि

रक्षा प्रणाली को पूर्ण सामग्रिया समाधान उपलब्ध कराने हेतु एक विशिष्ट केंद्र बनाना।

उद्देश्य

अभिनव सामग्री और संसाधित तकनीकों, संबंधित उत्पाद इंजीनियरिंग, सामग्री के मूल तथा व्यवहारिक पहलुओं में अनुसंधान द्वारा समर्थन के विकास को जारी रखना।

रक्षा धातुकर्म अनुसंधान प्रयोगशाला (डीएमआरएल) का आधुनिक प्रगतिशील युद्ध हथियार प्रणाली के लिए आवश्यक जटिल धातु और सामग्री की जरूरतों को पूरा करने के लिए 1963 में हैदराबाद में स्थापन हुआ था। इन वर्षों में प्रयोगशाला ने धातु में अनुसंधान एवं विकास, एलोय, सिरेमिक और कंपोजिट के लिए प्रमुख केंद्र के रुप में एक विशेष स्थान प्राप्त किया है।

डीएमआरएल हैदराबाद में विक्रेता पंजीकरण

.
.
.
.
Top