संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ >डी एल जे> समाचार एवं घटनाक्रम

घटनाएँ

प्रो. डीएस कोठारी मेमोरियल ओरेशन (जुलाई)

वर्ष

वक्ता का नाम और शीर्षक

2013

श्री. अविनाश चंदर, रक्षा मंत्री के वैज्ञानिक सलाहकार और सचिव, रक्षा अनुसंधान एवं विकास और महानिदेशक, डीआरडीओ, नई दिल्ली: "भविष्य के मानवरहित युद्ध: प्रौद्योगिकी की चुनौतियाँ"

2012

डा. गोवर्धन मेहता, एफएनए, एफआरएस, राष्ट्रीय अनुसंधान प्रोफेसर एवं पूर्व निदेशक, आईआईएससी, बैंगलोर: "एक बेहतर भविष्य की खोज: असंभव की स्वयंसिद्धता को चुनौती"

2011

डा. कोटा हरिनारायण,: "इंजीनियरिंग जटिल प्रणाली: चुनौतियां और अवसर"

2010

डॉ. वी.के. सारस्वत, आरएम, डीआरडीओ के एसए: "उभरते सुरक्षा खतरे एवं रक्षा प्रौद्योगिकियाँ - एक परिप्रेक्ष्य"

2009

प्रो. के.एल. चोपड़ा, पूर्व निदेशक, आईआईटी दिल्ली: "सूर्य से बिजली"

2008

प्रो. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, भारत के पूर्व राष्ट्रपति: "विज्ञान एवं युवा"

2007

डॉ. एस. बनर्जी, निदेशक, भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र, मुंबई, "भारतीय परमाणु ऊर्जा कार्यक्रम"

2006

डॉ. वी.एस. अरुणाचलम, आरएम, डीआरडीओ के पूर्व एसए: "प्रो डी.एस. कोठारी: मनुष्य और उसका मिशन" 

2005

प्रो. ए.आर. वर्मा, पूर्व निदेशक, एनपीएल, दिल्ली: 'रमन प्रभाव की खोज"

2004

प्रो. एम.एम. शर्मा, एफआऱए, एफएनए, रासायनिक प्रौद्योगिकी के प्रतिष्ठित मुंबई विश्वविद्यालय संस्थान के एमेरिटस प्रोफेसर, "भारत में उद्योगों के विकास में नवाचार की महत्वपूर्ण भूमिका"

2003

डॉ. आर.ए. माशेलकर, एफआऱए, एफएनएई, महानिदेशक. सीएसआईआर एवं सचिव, एस एंड आईआर विभाग: "भारतीय अभिनवता आंदोलन का शुभारंभ"

2002

प्रो. जे.एन. नंदा, पूर्व निदेशक, डीआरडीओ और विजिटिंग प्रोफेसर, पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़: "पार्थिव चुंबकत्व की उत्पत्ति"

2001

डॉ. अनिल काकोडकर, अध्यक्ष, एईसी एवं सचिव, परमाणु ऊर्जा विभाग: "विज्ञान और समाज की कड़ियां: परमाणु ऊर्जा में रणनीतियाँ"

2000

प्रो. एम. जी.के. मेनन, डॉ. विक्रम साराभाई विशिष्ट प्रोफेसर: "विज्ञान के बदलते चेहरे: एक समग्र भारतीय दृष्टिकोण"

1999

प्रो. आर.सी. मेहरोत्रा, कुलपति, राज, जयपुर का विश्वविद्यालय: "मन-मस्तिष्क पारस्परिक-क्रिया"

1998

प्रो. एस.के. जोशी, अध्यक्ष, आरएसी, दिल्ली: 'सुपर चालकता: नई प्रौद्योगिकी और नए विज्ञान के लिए फाउंटेनहेड "

1997

डॉ. सम्पूर्ण सिंह, पूर्व निदेशक, डी एल जे: "प्रो कोठारी: विज्ञान, शिक्षा व आध्यात्मिकता पर उनकी दृष्टि "

1996

श्री. जेवी रमण राव, पूर्व निदेशक, डी एल जे: "आज की उन्नत युद्ध प्रौद्योगिकी और इसके भविष्य के रुझान की झलक"

1995

प्रो. पी. रामा राव, सचिव, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार, 'अतीत, वर्तमान और भारत मंं विज्ञान का भविष्य "

1994

डॉ. प्रेम कृपाल, पूर्व सचिव, शिक्षा और संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार: "मूल्य शिक्षा"

1993

श्री. ए. नागरत्नम, प्रसिद्ध वैज्ञानिक, डीआरडीओ: "प्रो. डीएस कोठारी: भारत में विज्ञान के वास्तुकार "

.
.
.
.
Top