संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ >डीएलजे>कार्य का क्षेत्र

कार्य का क्षेत्र

छलावरण प्रभाग

जोधपुर सैन्य प्रयोगशाला का छलावरण प्रभाग, सक्रिय रूप से छलावरण और कम दर्शिता के लिए सामग्री और प्रौद्योगिकी के विकास पर अनुसंधान और विकास में लगा हुआ है। इसका ध्यान भूमि आधारित और हवाई प्लेटफार्मों के हस्ताक्षर प्रबंधन की ओर है।

प्रभाग की सामग्री विकास गतिविधि,उन्नत सामग्री के संश्लेषण और लक्षण वर्णन पर एक मजबूत अनुसंधान और विकास और छलावरण और गोपनीयता के लिए विकास और सामग्री उत्पादों के परीक्षण पर पर केंद्रित है।

परमाणु विकिरण प्रबंधन और अनुप्रयोग (एनआरएमए)

एनआरएमए प्रभाग विकिरण डिटेक्टरों, डोसीमीटरों, डोज रेट मीटरों, एरिया मॉनिटरो के क्षेत्र में अनुसंधान और विकास में लगा है। कर्मियों की निगरानी सेवाओं पर आधारित थर्मो ल्युमिनिसेंट डोजीमीटर सहित विकिरण निगरानी के परीक्षण और अंशाकन के लिए इकाईयां स्थापित की गई हैं। इकाईयों को राष्ट्रीय निकायों (एनएबीएल/बीएआरसी) से मान्यता के साथ पता लगाने योग्य बनाया गया है। सशस्त्र बलों के कर्मियों के लिए परमाणु रक्षा और रेडियोलॉजीकल सुरक्षा में मिश्रित प्रशिक्षण पाठ्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। डी एल जे के वैज्ञानिक परमाणु रक्षा / सुरक्षा से संबंधित अनेक राष्ट्रीय समितियों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

मरुस्थल पर्यावरण विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी (डीईएसटी)

डीईएसटी प्रभाग मरुस्थल की कठोर परिस्थितियों के तहत काम करने वाले सैनिकों की दक्षता बढ़ाने के लिए पानी, मिट्टी और गर्मी के क्षेत्र में अनुसंधान और विकास में लगा हुआ है। सैन्य अनुप्रयोगों के लिए पानी, गर्मी और इलाके के प्रबंधन से संबंधित प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए बुनियादी के साथ-साथ व्यावहारिक अनुसंधान चलाया जा रहा है।

.
.
.
.
Top