संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ > डीईएएल > पुरस्कार








पुरस्कार/मान्यता 

स्वर्ण मयूर गुणवत्ता पुरस्कार

यह प्रयोगशाला देश की सर्वप्रथम आर एवं डी स्थापना है जिसे आईएसओ-9000 प्रमाणित प्रतिष्ठान प्रमाणित किया गया है। इसे राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता दी गई जब इसको वर्ष हेतु स्वर्ण मयूर गुणवत्ता पुरस्कार (आर एवं डी) प्रदान किया गया।

एनआरडीसी पुरस्कार विजेता

डॉ. के. डी. नायक, श्री वीरपाल सिंह, श्री अशोक मित्तल और श्री अजय मलिक नामक वैज्ञानिकों की टीम को "वर्ष 1998 में का (केए) बैंक (मिलीमीटर तरंगें) पर थी चैनल मोनोपल्स रिसीवर का विकास" हेतु उच्च अनुशंसित संवर्ग में रु. 50,000/- का नकद पुरस्कार प्रदान किया गया था।

डीईएएल में डीआरडीओ पुरस्कार विजेता

क्रम. सं.
साल
टीम लीडर
टीम के सदस्य
रुपये
उद्धरण

1.

1980

डॉ. ई. भागिरथा राओ, एस.सी-जी

i. जीपी कैप्ट एससी बासू, वीसीएम
ii. श्री सी रामा राओ, एससी-ई
iii. श्री सीके चेर्टजी, एससी-ई
iv. श्री हरभजन सिंह, एससी-ई
v. श्री. सी अप्पा राओ, एससी-डी
vi. श्री एमएम शर्मा, एससी-डी
vii. श्री वाईपी सेहगल, एससी-सी
viii. श्री सीवीकेएस शास्त्री, एससी-सी
ix. श्री अशोक सेन, एससी-डी
x. श्री आरएस मिश्रा, एससी-सी

रु. 5000/- (रु. 500/- दल के नेता को छोड़कर टीम के हर सदस्य के लिए प्रत्येक)

एक लंबी दौड़ संचार प्रणाली स्थापित करने के लिए कार्यक्रम के तहत टरोपोसकेटर का विकास संचार उपकरण, फॉरवर्ड माइक्रोवेव आवृत्ति बैंड में टरोपोसकेटर द्वारा स्कैटर उपयोग.

2.

1990 - 1994

श्री वीबी माथूर. एससी-ई

i श्री एनएस छाबरा, एससी-ई
ii श्री ग्यानेश, एससी-डी
iii श्री एसएस सरिन, एससी-डी
iv. श्री आरपी दीक्षित, एससी-डी
v. श्री वीपी दत्ता, एस सी-डी
vi. श्री हरि सिंह, एससी-डी
vii श्री वीरपाल सिंह, एससी-डी
viii. श्री सुशील वर्मा, एससी-डी
ix. श्री बी बर्मन, एससी-सी
x. श्री आरबी सिंह, एससी-सी
xi श्री करतार सिंह, जेएसओ

रु. 10000/-

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन रुपये की प्रौद्योगिकी पुरस्कार. वीबी श्री माथुर, वैज्ञानिक और रक्षा इलेक्ट्रॉनिक्स आवेदन प्रयोगशाला, देहरादून से ग्यारह सदस्यों की उनकी टीम को दिया 10000 एफ. इस पुरस्कार मिलीमीटर लहर संचार प्रणाली के विकास की दिशा में उनके योगदान को मान्यता देने में है

 
3.
1995
श्री आरएस मिश्रा, एससी-
i श्री के सिवा कुमार, एससी-ई
ii श्री ऐके शुक्ला, एससी-ई
iii श्री डीके दत्ता, एससी-डी
iv. श्री आरसी कारगेती, एससी-डी
v. श्री अशोक कुमार, एससी-डी
vi. श्री पीके मित्तल, एससी-सी
vii श्री एसरामा करिशनन, एससी-सी
viii. श्री सतीश कुमार, एससी-सी
रु.20,000/-
इस पुरस्कार गुणवत्ता आश्वासन के क्षेत्र में उनके योगदान को मान्यता देने में है और स्थापित करने में और प्रयोगशाला में अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता मानकों को गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली को बनाए रखने.
4.
1996
श्री प्रकाश चंद, एससी-ई
i श्री गिरजा शंकर, एससी-ई
ii श्री पीपी खन्ना, एससी-ई
iii श्री के सिवा कुमार, एससी-ई
iv. डॉ बीएस जैसल, एससी-ई
v. श्री ग्यानेश, एससी-ई
vi. श्री जिंदल एसके, एससी-ई
vii श्री केपी रंगरी, एससी-ई
viii. श्री पीके शर्मा, एससी-डी
ix. श्री आरएस पुंडीर, एससी-डी
x. श्री जीएच कुमार, एससी-डी
xi श्री वीपी दत्ता, एससी-डी
xii. श्री विनीत दवेदी, एससी-डी
xii. श्री पीएल सेहगल, एससी-सी
रु.20,000/-
इस पुरस्कार गुणवत्ता आश्वासन के क्षेत्र में उनके योगदान को मान्यता देने में है और स्थापित करने में और प्रयोगशाला में अंतरराष्ट्रीय गुणवत्ता मानकों को गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली को बनाए रखने.

डीईएएल में डीआरडीओ पुरस्कार विजेता

नाम साल प्रशस्ति
श्री हरभजन सिंह (वर्ष के वैज्ञानिक पुरस्कार) 1983 वीएलएफ रिसीवर के विकास में असाधारण योगदान हेतु प्रदान किया गया
श्री वेद प्रकाश सैंडलस् (वर्ष के वैज्ञानिक पुरस्कार) 1988 उपग्रह संचार प्रणाली, छवि संसाधन हार्डवेयर तथा इलीमीट्रिक तरंग मार्गदर्शन प्रौद्योगिकी में असाधारण योगदान
डॉ. अमरजीत सिंह बैनस् (वर्ष के वैज्ञानिक पुरस्कार) 1993 संचार, मिसाइल सीकर हेड्स तथा टॉप अटैक स्मार्ट म्युनिशन्स के लिए एक मिलीमीटर तरंगों में असाधारण योगदान
श्री आरसी चक्रावर्ती (वर्ष के वैज्ञानिक पुरस्कार) 1995 छवि संसाधन में असाधारण योगदान
श्री अशोक सेन (वर्ष के वैज्ञानिक पुरस्कार) 1998 "जैम रोधी डेटा लिंक्स, ट्रैकिंग लिंक्स तथा मिनी आरपीवी- निशान्त के लिए ट्रैकिंग प्रणाली" के विकास में महत्वपूर्ण योगदान
श्री किशन लाल (जवान वैज्ञानिक पुरस्कार) 1998 वीडियो कोडर - डिकोडर का विकास (सीओडीईसी)
श्री करिशन मूरारी लाल (सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन पुरस्कार) 1998 प्रणालीगत लेखा पद्वति के विकास में महत्वपूर्ण योगदान
श्री विपीन कुमार कौशिक (जवान वैज्ञानिक पुरस्कार) 1999 छवि संसाधन के क्षेत्र में असाधारण योगदान
.
.
.
.
Top