संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ > डी ऐ र इ > उपलब्धियाँ

उपलब्धियां

निर्धारित विमानों के लिए अनुकूल इलैक्ट्रॉनिक युद्ध भेदक (ईडब्ल्यू)

डीएआरई ने भारतीय वायु सेना और भारतीय नौ सेना के लड़ाकू विमानों को इलैक्ट्रॉनिक बख्तरबंद , जिसमें समर्थन कार्यविधि और आत्म -रक्षक प्रतिरोधक लगाए गए हैं , से सफलता पूर्ण सुसज्जित किया है।  

विभिन्न विमान प्लेटफार्मों के लिए रडार संकेतक

डीएआरई द्वारा अत्याधुनिक आरडब्ल्यूआर का विकास मूलत : लड़ाकू विमान के लिए 1997 में किया गया। इसका उत्पादन बीईएल में किया जा रहा है और इसे भारतीय नौ सेना के अलावा , आईएएफ के सभी विमान , हेलीकॉप्टर और यातायात विमान में स्थापित किया जाएगा।

रेंज ऑन व्हील्स

डीएआरई ने एयरबोर्न ईडब्ल्यू प्रणाली की स्थापित विनिर्दिष्टियों के मूल्यांकन और ईसीएम तकनीकों के साथ तालमेल रखने के लिए रेंज ऑन व्हील्स (आरओडब्ल्यू ) सुविधा का विकास किया। इस मोबाइल रेंज में मुख्य थ्रीट रडार, रेफरेंस रडार, स्लेव्ड आरएक्स /टीएक्स पेडेस्टल प्रणाली, डेटा अर्जन स्टेशन, मिशन नियंत्रण स्टेशन और जनरेटर यान शामिल हैं। अब यह निर्णय लिया गया है कि इसका दायरा बढ़ा दिया जाए और इसे एक स्थिर ईडब्ल्यू रेंज बनाया जाए। एयरबोर्न रडारों , उपकरण सहित कुछ रडारों को प्राप्त करने और उन्हें मिलाकर श्रृंखला विस्तृत करने तथा एयरबोर्न रडार एवं ईडब्ल्यू रेंज सृजित करने का प्रस्ताव है।

एलसीए के लिए मिशन एवियानिक्स (मिशन कंप्यूटर) 

डीएआरई के मिशन एवियानिक्स स्कंध ने मिशन एवियानिक्स क्षेत्र का देश में विकास किया है। यह एलसीए के लिए मिशन कंप्यूटर (एमसी) के सफल निष्पादन से शुरु हुआ। एमसी की खूबियां निम्नलिखित हैं  

.
.
.
.
Top