संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ > सीएफईईएस > कार्यक्षेत्र

कार्यक्षेत्र

(क) विस्‍फोटक सुरक्षा

  1. विस्‍फोटक सुरक्षा विनियम (एसटीईसी विनियम)
  2. विस्‍फोटक भण्‍ड़ारण भवनों के नई तकनीक से सुसज्जित करने के लिए डिजाइन, परीक्षण एवं मूल्‍यांकन (इग्‍लू, यूआरपी, एचपीएम, यूजी)
  3. नए विकसित/आयातित आयुधों/विस्‍फोटकों का जोखिम क्षमता वर्गीकरण (हैजार्ड क्‍लासीफिकेशन)
  4. लो आर्डर डिटोनेशन द्वारा अनुपयोगी आयुधों का निपटान
  5. रक्षा मंत्रालयों की स्‍थापनाओं में नए विस्‍फोटक भवनों का स्‍थल निर्धारण(Siting)
  6. विस्‍फोटक सुरक्षा ऑडिट के माध्‍यम से एसटीईसी विनियमों के अनुपालन सुनिश्चित करना
  7. विस्‍फोटक सुरक्षा ऑडिट के माध्‍यम से एसटीईसी विनियमों के अनुपालन सुनिश्चित करना
  8. मास्‍टर आयुध भण्‍डारण योजना (एम ए एस पी)
  9. परिमाणात्‍मक जोखिम मूल्‍यांकन (क्‍यूआरए)

(ख) पर्यावरण सुरक्षा

  1. डीआरडीओ सुरक्षा पॉलिसी के अनुसार पर्यावरण सुरक्षा ऑडिट
  2. रक्षा मंत्रालयों की स्‍थापनाओं में पर्यावरण सुरक्षा के मामलों पर तकनीकी सलाह
  3. विषाक्‍त तथा खतरनाक अपशिष्‍टों/एफ़्लुएंट के निपटान/उपचार के लिए पर्यावरण हेतु सुरक्षित प्रौद्योगिकियों के विकास पर अनुसंधान एवं विकास प्रोजक्‍ट
  4. जैविक उपचार के माध्‍यम से संदूषित स्‍थल प्रबंधंन पर मार्गदर्शन
  5. खतरनाक पदार्थों के जोखिम का मूल्‍यांकन तथा आपदा के जोखिमों में कमी लाना
  6. रक्षा मंत्रालयों की स्‍थापनाओं के लिए पर्यावरण पर प्रभाव का मूल्‍यांकन

(ग) अग्नि से सुरक्षा

  1. रक्षा अग्निशमन कार्मिकों के लिए व्‍य‍वसायिक अग्निशमन प्रशिक्षण कार्यक्रम
  2. रक्षा मंत्रालयों की स्‍थापनाओं को अग्नि से सुरक्षा तथा अग्निशमन का परामर्श
  3. रक्षा मंत्रालयों की स्‍थापनाओं का अग्नि सुरक्षा संपरीक्षा (ऑडिट)
  4. अग्नि दुर्घटनाओं की जांच
  5. बख्‍तरबंद लडाकू वाहनों के लिए अग्नि संसूचक तथा दमन प्रणाली का विकास
  6. जल कणिका (वाटर मिस्‍ट) आ‍धारित अग्नि दमन प्रणाली का विकास
  7. अग्नि से सुरक्षा हेतु वस्‍त्र (फायर प्रोटेक्टिव क्‍लोदिंग) एवं उपकरणों का विकास
  8. हैलोन विकल्‍पों तथा संबंधित अग्नि दमन प्रणाली का विकास
  9. हैलोन बैंकिंग एवं प्रबंधंन
  10. अग्नि दमन रसायनों, फोम, हैलोन एवं हैलोन के विकल्‍पों,अग्नि अवरोधक वस्‍त्र, अग्नि शमन उपकरणों एवं उपस्‍करों आदि का परीक्षण एवं मूल्‍यांकन

प्रशिक्षण पाठ्यक्रम

अग्निशमन

  • अनिवार्य पाठ्यक्रम :-
    • (i) जनरल कोर्स इन फायर फाइटिंग
      समयावधि – 12 सप्‍ताह
      पात्रता – रक्षा अग्निशमन सेवा कार्मिक तथा भारतीय वायुसेना के ई.एस.एस.ए/ए.सी.एच. जी.डी. ट्रेड के वायु सैनिक (एस.एन.ओ.सी., एन.सी.ओ., अन्‍य)

    • (ii) सीनियर फायर सुपरवाइजर कोर्स :
      समयावधि – 08 सप्‍ताह
      पात्रता – रक्षा अग्निशमन सेवा कार्मिक, सुपरवाइजर अथवा समकक्ष श्रेणी को प्राथमिकता

    • (iii) जनरल कोर्स इन एयर क्रैश रेस्क्‍यू एडं फायर फाइटिंग :
      समयावधि – 08 सप्‍ताह
      पात्रता – कोई बाध्‍यता नहीं
  • वैकल्पिक पाठ्यक्रम :-
    • (i) जनरल फायर प्रिवेंशन एडं फायर फाइटिंग कोर्स – आफिसर्स
      समयावधि –08 सप्‍ताह
      पात्रता –ओ.एफ.बी., डी.जी.क्‍यू.ए., डीआरडीओ तथा अन्‍य आं‍तरिक सेवा संगठनों से सर्विस आफिसर तथा समकक्ष श्रेणी अधिकारी

    • (ii) बेसिक कोर्स इन एलीमेंट्री फायर फाइटिंग
      समयावधि –04 सप्‍ताह
      पात्रता – जे.सी.ओ, एन.सी.ओ अथवा समकक्ष तथा ग्रुप सी कैडर से सिविलियन, रक्षा अग्निशमन सेवा कार्मिकों के अतिरिक्‍त सिविलियन

    • (iii) सुरक्षा जागरुकता पर विशेष पाठ्यक्रम
      समयावधि – 01 सप्‍ताह
      पात्रता – डीआरडीओ, थलसेना, नौसेना, वायुसेना, ओ.एफ.बी., डी.जी.क्‍यू.ए अन्‍य आं‍तरिक सेवा संगठनों तथा रक्षा उपक्रमों से ग्रुप ‘ए’ अधिकारी
  • आवश्‍यकता पर आधारित पाठ्यक्रम :-
    • i) ट्रेनिंग ऑफ ट्रेनर्स
      समयावधि – 06 सप्‍ताह
      पात्रता – जे.सी.ओ., एन.सी.ओ., फायर सुपरवाइजर

    • ii) ब्रीदिंग ऑपरेटस कोर्स :
      समयावधि – 04 सप्‍ताह
      पात्रता – जे.सी.ओ., एन.सी.ओ., फायर सुपरवाइजर

विस्‍फोटक एवं पर्यावरण सुरक्षा
रक्षा मंत्रालय में सुरक्षा संस्‍कारों को मजबूती प्रदान करने के लिए सामान्‍य जागरुकता तथा कस्‍टमाइज्‍ड ट्रेनिंग पाठ्यक्रम

.
.
.
.
Top